हस्ताक्षर

प्लेटो
जब लोग तुम्हारी बुराई करते हैं, तब इस तरह जियो कि कोई उन पर विश्वास न कर सके : प्लेटो
  • उदार बनो, क्योंकि जिस व्यक्ति से भी तुम्हारी मुलाकात होती है, वह एक कठिनतर संग्राम लड़ रहा होता है। 
  • प्रत्येक हृदय एक गीत गाता है – अधूरा, जब तक दूसरा हृदय जवाब में उसके पास फुसफुसाता नहीं है। जो गाना चाहते हैं, उन्हें गीत मिल ही जाता है। प्रेमी के स्पर्श से प्रत्येक व्यक्ति कवि बन जाता है।
  • बुद्धिमान इसलिए बोलते हैं, क्योंकि उनके पास कहने के लिए कुछ होता है; मूर्ख इसलिए कि उन्हें कुछ कहना होता है।
  • जो बच्चा अंधेरे से डरता है हम उसे आसानी से माफ कर सकते हैं, जीवन की असल ट्रेजेडी तब सामने आती है जब वयस्क प्रकाश से डरते हैं।
  • सिर्फ मृतकों ने ही युद्ध का अंत देखा है।
  • सार्वजनिक मामलों के प्रति उदासीनता की कीमत अच्छे लोग इस रूप में चुकाते हैं कि उन्हें बुरे लोगों द्वारा शासित होना पड़ता है।
  • प्रेम एक गंभीर मानसिक रोग है।
  • अच्छे लोगों को जिम्मेदारी से काम करने के लिए कानून की जरूरत नहीं होती, जबकि बुरे लोग तमाम कानूनों के बावजूद रास्ता निकाल लेते हैं।
  • शराब और बच्चों में सचाई होती है।
  • मैं सोचने की कोशिश कर रहा हूँ, तथ्यों के द्वारा मुझे भ्रांत न करो।
  • आदमी का मूल्य इससे आंका जाता है कि वह पॉवर के साथ क्या करता है।
  • जो कहानियां कहते हैं, वे समाज पर शासन करते हैं।
  • प्रेम का पागलपन ईश्वर का सब से बड़ा वरदान है।
  • मनुष्य तीन प्रकार के होते हैं; बुद्धिमत्ता चाहने वाले, प्रतिष्ठा चाहने वाले और फायदा चाहने वाले।
  • साहस यह जानना है कि किन चीजों से नहीं डरना चाहिए।
  • शासन करने से अस्वीकार करने का  कठोरतम दंड है ऐसे व्यक्ति द्वारा शासित होना जो तुमसे निकृष्ट है।
  • दो चीजें हैं जिनसे आदमी को कभी नाराज नहीं होना चाहिए – जो उसके बस में हैं और जो उसके बस में नहीं है।
  • तुम कैसे साबित कर सकते हो कि इस क्षण हम सभी सो रहे हैं और हमारे विचार स्वप्न हैं, अथवा हम जाग रहे हैं और जगे में एक-दूसरे से बात कर रहे हैं?
  • शुरुआत ही किसी काम का सब से महत्वपूर्ण हिस्सा होता है।
  • चरित्र क्या है?  आदत का लंबे समय तक बने रहना।
  • संगीत के क्षेत्र में नवाचार राज्य के लिए खतरे से भरा हुआ है, क्योंकि जब संगीत के सुर बदलते हैं तब हमेशा उनके साथ राज्य के नियम भी बदल जाते हैं।
  • पुस्तकालय घर की आत्मा है।
  • कम से संतुष्ट हो कर जीना सब से बड़ी दौलत है।
  • सौंदर्य का निवास देखने वाले की आंखों में है।
  • प्रेम पूर्ण की इच्छा और उसके लिए प्रयत्न का नाम है।
  • लेखन आत्मा की ज्यामिति है।
  • हम में से प्रत्येक में, वह चाहे जितना संयत हो, एक ऐसी इच्छा होती है जो भयानक है, वन्य है और कानून से परे है।
  • मनुष्य वह प्राणी है जो अर्थ की तलाश में रहता है।
  • बराबर वालों के बीच ही सच्ची मित्रता संभव है।
  • या तो हम वह पा लेंगे जिसकी तलाश कर रहे हैं या कम से कम इस समझ से मुक्ति पा लेंगे कि जो हम नहीं जानते, उसे जानते हैं।
  • कोई भी मनुष्य गंभीर महत्व का नहीं है।
  • बुद्धिमान था वह आदमी जिसने ईश्वर का आविष्कार किया।
  • जिन्होंने अपने सिर को हिलने ही नहीं दिया, वे छायाओं के अतिरिक्त और क्या दख सकते थे?
  • वास्तव में मैं सिर्फ इतना ही जानता हूँ कि मेरे अज्ञान की सीमा क्या है।
  • इतिहास की अपेक्षा कविता जीवंत सत्य के ज्यादा नजदीक होती है।
  • सब कुछ तरल है, स्थिर कुछ भी नहीं है।
  • कुत्ते में दार्शनिक की आत्मा होती है।
  • जब हम आस्था के साथ लड़ते हैं, तब हमारे पास दोगुने हथियार होते हैं।
  • राज्य के निर्माण में हमारा उद्देश्य सभी की खुशहाली होती है – किसी एक वर्ग की नहीं।
  • एक अच्छा फैसला ज्ञान पर आधारित होता है न कि इस पर कि वह फैसला कितने लोगों ने लिया है।
  • विस्मय की यह भावना ही दिखाती है कि तुम दार्शनिक है, क्योंकि विस्मय ही दर्शन की शुरुआत है।
  • कोई भी आदमी नुकसान आसानी से कर सकता है, पर हर आदमी दूसरे का भला नहीं कर सकता।
  • पुस्तकें  ऐसी अमर्त्य संतानें हैं जो अपने पिताओं की अवज्ञा करती हैं।
  • हर धोखादेह चीज मन को मोहने वाली होती है।
  • क्या पूर्ण दुनिया नाम की कोई चीज होती है?
  • जिस व्यक्ति को प्रेम स्पर्श किए हुए है, वह अंधेरे में नहीं विचर सकता।
  • संघर्ष के बिना कुछ भी सुंदर नहीं।
  • ज्ञान आत्मा का भोजन है।
  • ईमानदारी प्रायः बेईमानी से कम फायदेमंद होती है।
  • यदि उद्देश्य सही न हो तो ज्ञान असत हो जाता है।  
  • धन  विलासिता और आलस्य का जनक है और गरीबी क्षुद्रता तथा दुष्टता का, और दोनों ही असंतोष पैदा करते हैं।

****